डेटॉल – सबकी सफाई करता डेटॉल

Dettol डेटॉल

व्यक्ति या जगह को हम उनके रंग-रूप और रहन-सहन से पहचानते हैं, पर उनका स्वभाव और व्यवहार जानने के बाद ही उन्हें गले लगाते हैं। किसी ब्रांड को अपनाने की शर्त भी है उत्पाद विशेष का गुण व उनकी खूबियाँ, जिन्हें ब्रांड गुरु ‘कोर प्रापर्टी’ कहते हैं। ग्राहकों के अवचेतन मन में यह ‘कोर प्रापर्टी’ ऐसी पुख्ता होती है, कि इससे अलग किस्म के उत्पाद को उस ब्रांड नेम से भी वे स्वीकार नहीं करते। जॉनसन एंड जॉनसन जैसी प्रतिष्ठित कंपनी ने डेटॉल जैसी पैकिंग में ही ‘सेवलॉन’ लॉञ्च किया, जो डेटॉल की खास गंध, रंग व हलकी जलन का मुकाबला नहीं कर पाया। यही नहीं, डेटॉल ने जब भी जर्मनाशक की अपनी स्थापित पहचान से अलग कोई उत्पाद लॉञ्च किया तो ग्राहकों ने नकार दिया। कॉस्मेटिक प्रॉपर्टी के साथ ग्राहकों को डेटॉल साबुन पसंद नहीं आया, पर यही साबुन शत प्रतिशत जर्म फाइटर की पंच लाइन के साथ रिलीज हुआ तो डेटॉल ब्रांड के प्रति लायल ग्राहकों ने इसे तत्काल लपक लिया।

Dettol is a great and truly multi-purpose product, and true to its sword logo, it gives that feeling of being protected from germs and infections. Dettol’s packaging is distinct in its very own way. The green & white colours are associated with hospitals. All Dettol products have a sword on the pack, which is a symbol for fighting germs and infection. Over the years, the clouding action and the sword have become synonymous with the brand and have been creatively used in Dettol advertising. The logo sword appears vertically down the center of the circle; a star like shape appears at the sword’s point; and the word ”Dettol” is superimposed and centered on top of the circle and sword.

मार्केटिंग गुरु कहते हैं कि ब्रांड दुधारी तलवार है, क्योंकि ब्रांड नेम से उत्पाद बेचना ‘वन टाइम सेल’ नहीं, बल्कि गुणवत्ता की गारंटी के साथ ग्राहकों से लंबे रिश्ते बनाना है। यह ऐसी कठिन चुनौती है कि एक भूल, एक पल में बरसों की मेहनत व सफलता मटियामेट कर देती है। यही नहीं, ब्रांड नेम की यह कोर प्रॉपर्टी धीरे-धीरे ग्राहकों के अवचेतन मन में ऐसी पुख्ता पहचान बना लेती है कि उसी कंपनी के किसी अन्य श्रेणी के उत्पाद के साथ उस ब्रांड नेम को वे स्वीकार नहीं करते। मसलन, डेटॉल यानी एंटीसेप्टिक डिसइन्फेक्टेंट्स (रोगाणुनाशी), जो रोग पैदा करनेवाले कीटाणुओं से बचाए। डेटॉल निर्माता कंपनी रैकिट बेंकिसर के समान गुणोंवाली अपनी उत्पाद शृंखला बढ़ाई तो ग्राहकों ने उसे डेटॉल की तरह ही लपक लिया, पर मदर ब्रांड डेटॉल को इनकेश करते हुए कोई कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स लॉञ्च किया तो नकार दिया। मॉइश्चरयुक्त सोप ‘डेटॉल एक्स्ट्रा’ ग्राहकों ने नकार दिया, क्योंकि यह डेटॉल की कोर प्रॉपर्टी हाईजैनिक व सफाई का प्रतिनिधित्व नहीं करता था। यही सोप ‘जर्म फाइट’ की पंच लाइन के साथ रीलॉञ्च (पुनर्जीवित) हुआ तो ऐसा लोकप्रिय हुआ कि प्रीमियम सोप मार्केट में इसकी हिस्सेदारी आज 18 फीसदी है। इसी तरह महिला ग्राहकों ने डेटॉल शैंपू पसंद नहीं किया, क्योंकि जो ब्रांड उनके बेडरूम, बाथरूम कीफ्लोर क्लीन करता है, हाईजेनिक बनाता है, उससे वे अपने बाल कैसे साफ करें? मार्केटिंग गुरु कहते हैं कि यह मदर ब्रांड का वैसा ही शोषण है जैसे गन्ने का पूरा रस निचोड़ लेने के बाद उसकी क्रशिंग करें तो गन्ने का मीठा रस नहीं मिलता। मिलता है साधारण पानी।

अस्सी साल पहले ब्रिटिश उद्योगपति एलबर्ट रैकिट ने जब बैक्टोरियोलॉजिस्ट डॉ. डब्ल्यू. सा रेनाल्ड से एक जर्मनाशक की खोज करवाई, तब ही डेटॉल की यह नियति तय हो गई थी। यही नहीं, सन् 1929-30 में रोगाणुनाशी लिक्विड के रूप में ही लंदन के क्वीन कार्लोटी मेटरनिटी अस्पताल ने डेटॉल को क्लीनिकल ट्रायल के लिए स्वीकार किया था। सन् 1933 में पता चला कि यह ऐसा प्रभावी एंटीसेप्टिक उत्पाद है, जिसने 50 फीसदी नवजात शिशुओं को जन्मजात बुखार के कारण अकाल मृत्यु से बचाया है। इसके बाद रेकिट एंड संस (अब रेकिट बेंकिसर) ने डेटॉल को रिटेल मार्केट में लॉञ्च किया तो हाईजीन चाहनेवाले परिवारों की यह पहली पसंद बन गया। एक ताजा सर्वेक्षण के अनुसार दुनिया के 70 फीसदी घर व शत प्रतिशत अस्पताल, जो बैक्टोरियल प्रतिरोधक उत्पाद उपयोग करते हैं, उनमें सबसे ज्यादा लोकप्रिय है डेटॉल।

डेटॉल ने अपनी निर्माता कंपनी रेकिट बेंकिसर को इस कोर प्रॉपर्टी से ही पिछले 76 वर्षों में दुनिया की टॉप टेन हाउस होल्ड प्रोडक्ट्स कंपनियों में से एक बनाया है। घरेलू उत्पाद बनानेवाली दो कंपनियों रेकिट एंड कोलमेन तथा बेंकिसर के विलयन से सन् 1999 में जनमी रेकिट बेंकिसर आज पाँच श्रेणी के जो भी घरेलू उत्पाद बनाती है, उन सबकी बुनियाद समान है। कंपनी के हेल्थ एंड केअर प्रोडक्ट्स डेटॉल (एंटीसेप्टिक), वीट (बच्चों के अनचाहे बालों का रिमूवर), कुकीडेंट व स्टेराडेंट (डेंटल केअर), न्यूरोफिन (दर्दनाशक), डिस्प्रिन, लेमसिप स्ट्रेमसिल्सा (सर्दी व फ्लू प्रतिरोधक), गोविस्कॉन, सोनाकोट, फायब्रोजेल (कब्ज व एसिडिटी के लिए), क्लियरसिल (मुँहासे की औषधि), फैब्रिक केअर सेगमेंट में रेकिट बेंकिसर वेनिस, स्प्रे-एन-वॉश, नेपिसन, रिजॉल्व, वूलाइट, कॉलगॉन, क्वीटो, फ्लोर, एवा, कोलोन जैसे उत्पादों के लिए जानी जाती है। कंपनी के सर्फेस केअर प्रोडक्ट्स हैंङ्तलायसोल, हार्पिक, वेजा, मार्क, सिलिट वेंग, इजी ऑफ, माप एंड ग्लो, ब्रासो, लाइस ए-वे, पोलफार या ओल्ड इंग्लिश आदि। रेकिट बेंकिसर के कोल्गनिट, फिनिश, इलेक्ट्रासॉल और जेटे ड्राय ऑटोमैटिक डिश वाशर्स में उपयोग किए जाते हैं। एयर केअर के लिए एयर विक, पेस्ट कंट्रोल के लिए डीकॉन, मोर्टिन तो शू केअर के लिए रेकिट बेंकिसर नगेट व चेरी ब्लासम बनाती है। इन सारे उत्पादों के नाम और इनकी खूबियों का निहितार्थ है हाईजीन, यानी साफ-स्वच्छ रहो तो स्वस्थ होंगे। दुनिया के 44 देशों में बननेवाले ये उत्पाद 180 देशों में लोकप्रिय हैं। 29 हजार लोगों को रेकिट बेंकिसर ने प्रत्यक्ष रोजगार प्रदान किया है। मेडिको वर्ल्ड में रेकिट बेंकिसर कम्युनिटी वर्ष अवार्ड्स के लिए जानी जाती है। अर्थात् गैर-वाणिज्यिक क्षेत्र में भी डेटॉल की एक ही पुख्ता पहचान हैवास्थ्य रक्षक ब्रांड।

भारत में डेटॉल

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन द्वारा मान्य अत्यंत विश्वसनीय हाईजेनिक ब्रांड के रूप में डेटॉल हमारे देश में 75 वर्ष पूरे कर चुका है। सन् 1933 में भारत में शारीरिक चोट व घाव की सफाई के लिए डेटॉल का उपयोग शुरू हुआ था। आज होम एंड पर्सनल केअर, सरफेस केअर, फैब्रिक केअर, पेस्ट कंट्रोल और हेल्थ केअर में डेटॉल निर्माता कंपनी रेकिट बेंकिसर के उत्पाद भारत में भी खूब लोकप्रिय हैं। कंपनी के सिरमौर उत्पाद डेटॉल के अलावा भारतीय मार्केट में बीट, हार्पिक, मार्टिन, रॉबिन ब्लू, चेरी लिजोल, कॉलिन, डिस्प्रिन, ब्रासो, डेटॉल सोप, शेविंग क्रीम इजी आफ वेंग, स्ट्रेपसिल्स, क्लियरसिल भी खूब लोकप्रिय हैं। डेटॉल की एंटीसेप्टिक मार्केट में 85, लिक्विड हैंड वॉश मार्केट में 60 एवं सोप मार्केट में 40 फीसदी की हिस्सेदारी है।

सन् 1960 में डेटॉल ने भारत में जब एडवरटाइजिंग की शुरुआत की तो उसका फोकस था, ग्राहकों को समझाना कि वे कीटाणु से बचें तो रोगों से बचेंगे। तब से आज तक डेटॉल के विज्ञापन का निहितार्थ हैङ्तएक माँ की तरह पूरे परिवार को स्वस्थ रखता है डेटॉल। किसी ब्रांड के लिए 75 वर्ष तक लगातार लोकप्रिय बने रहना एक बड़ी उपलब्धि है, पर रेकिट बेंकिसर इंडिया लिमिटेड के सी.एम.डी. चंदरमोहन सेठी कहते हैं कि 75वें वर्ष (2008) में डेटॉल ने आगामी 75 वर्षों की यात्रा शुरू की है। यह नई यात्रा होगीङ्तहेल्थ और हाईजीन के 75 वर्ष… विश्वास व भरोसे के 75 वर्ष… भारतीय परिवारों को स्वस्थ रखने के 75 वर्ष…।

 “Your attitude, not your aptitude,

determines your altitude.”  -Zig Ziglar

DISCLAIMER:
THE VIEWS AND OPINIONS EXPRESSED IN THIS ARTICLE ARE THOSE OF THE AUTHOR AND DO NOT REFLECT THE VIEWS OF SPEAKIN, ITS MANAGEMENT OR AFFILIATES. SPEAKIN MAKES NO REPRESENTATION AS TO ACCURACY, COMPLETENESS, CORRECTNESS, SUITABILITY OR VALIDITY OF ANY INFORMATION ON THIS ARTICLE AND WILL NOT BE LIABLE FOR ANY ERRORS, OMISSIONS OR DELAYS IN THIS INFORMATION OR DAMAGES ARISING FROM ITS DISPLAY OR USE.
Prakash Biyani

Author: Prakash Biyani

कॉरपोरेट इतिहासकार प्रकाश बियानी की यह ग्यारहवीं पुस्तक है। श्री बियानी की पूर्व प्रकाशित पुस्तकों में बहुपठित हैं—‘शून्य से शिखर’, ‘जी! वित्तमंत्री जी’, ‘इस्पात पुरुष लक्ष्मी मित्तल’, ‘इंडियन बिजनेस वुमेन’, ‘25 सुपर ब्रांड्स’ एवं ‘खदान से ख्वाबों तक संगमरमर’। बिजनेस वर्ल्ड पर हिंदी में पहली बार प्रकाशित इन पुस्तकों को प्रबुद्ध पाठकों, विशेषकर बी-स्कूल के छात्रों ने खूब सराहा है। उनकी पुस्तकों के गुजराती, मराठी संस्करण भी लोकप्रिय हुए हैं।

‌किशोर उम्र से लेखन कार्य कर रहे श्री बियानी ने 25 वर्ष (1968-93) भारतीय स्टेट बैंक में महत्वपूर्ण दायित्व सँभालने के बाद दस वर्ष (1994-2003) भास्कर समूह में कॉरपोरेट संपादक का दायित्व सँभाला है। उनके दो हजार से ज्यादा लेख, साक्षात्कार विभिन्‍न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुके हैं। सन् 2003 से फ्रीलांस लेखक के रूप में कार्यरत श्री बियानी विभिन्‍न पत्र-पत्रिकाओं के निय‌िमत स्तंभ लेखक भी हैं।

Tagged with: