Author: Prakash Biyani

कॉरपोरेट इतिहासकार प्रकाश बियानी की यह ग्यारहवीं पुस्तक है। श्री बियानी की पूर्व प्रकाशित पुस्तकों में बहुपठित हैं—‘शून्य से शिखर’, ‘जी! वित्तमंत्री जी’, ‘इस्पात पुरुष लक्ष्मी मित्तल’, ‘इंडियन बिजनेस वुमेन’, ‘25 सुपर ब्रांड्स’ एवं ‘खदान से ख्वाबों तक संगमरमर’। बिजनेस वर्ल्ड पर हिंदी में पहली बार प्रकाशित इन पुस्तकों को प्रबुद्ध पाठकों, विशेषकर बी-स्कूल के छात्रों ने खूब सराहा है। उनकी पुस्तकों के गुजराती, मराठी संस्करण भी लोकप्रिय हुए हैं। ‌किशोर उम्र से लेखन कार्य कर रहे श्री बियानी ने 25 वर्ष (1968-93) भारतीय स्टेट बैंक में महत्वपूर्ण दायित्व सँभालने के बाद दस वर्ष (1994-2003) भास्कर समूह में कॉरपोरेट संपादक का दायित्व सँभाला है। उनके दो हजार से ज्यादा लेख, साक्षात्कार विभिन्‍न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुके हैं। सन् 2003 से फ्रीलांस लेखक के रूप में कार्यरत श्री बियानी विभिन्‍न पत्र-पत्रिकाओं के निय‌िमत स्तंभ लेखक भी हैं।
Read More
Aquaguard एक्वागार्ड

एक्वागार्ड – स्वस्थ जिंदगी का पानी एक्वागार्ड

एक्वागार्ड ऐसा ब्रांड है, जो किसी उत्पाद से पहले एक सोच को बेचता है। यह सोच है शुद्ध व सुरक्षित पानी, यानी स्वस्थ और खुशहाल जिंदगानी। दिलचस्प बात यह है कि हम सब इस बात […]

Read More
Dettol डेटॉल

डेटॉल – सबकी सफाई करता डेटॉल

व्यक्ति या जगह को हम उनके रंग-रूप और रहन-सहन से पहचानते हैं, पर उनका स्वभाव और व्यवहार जानने के बाद ही उन्हें गले लगाते हैं। किसी ब्रांड को अपनाने की शर्त भी है उत्पाद विशेष […]

Read More
Dominoz

डोमिनोजः खुशियों की होम डिलीवरी

पिज्जा, मतलब नई पीढ़ी का सबसे पसंदीदा फास्ट फूड। एक ऐसा पका-पकाया तैयार खाना जो, भरे पेटवालों को भी अपने रंग-रूप और सुगंध से ललचाता है। पर, क्या आप यकीन करेंगे कि यही पिज्जा कभी […]

Read More
Nirma, निरमा

निरमा – हाथी के कान में चींटी निरमा

दमी पहले प्यार या पहले युद्ध में जीत के लिए जाना जाता है। करसनभाई एफ.एम.सी.जी. मार्केट में लीवर को हराने के लिए मशहूर हैं; पर उनकी वास्तविक उपलब्धि है, डिटर्जेंट को निर्धन व मध्यमवर्गीय महिलाओं […]

Read More
Nivea

नीविया – सीप का मोती नीविया

दुनिया के बाजार में एक ब्रांड का स्थापित करना उतना ही कठिन काम है जितना कि मोतीवाली सीप खोजना। नीविया ब्रांड की संघर्ष गाथा सच्चाई को बयाँ करती है। यह ब्रांड बना, खत्म हुआ और […]

जॉनसन ऐंड जॉनसन – मानवता का मान जॉनसन ऐंड जॉनसन

जॉनसन ऐंड जॉनसन सन् 1886 का उत्तरार्ध था। इधर, भारत में कांग्रेस के उदय के साथ स्वतंत्रता आंदोलन ऊर्जावान् होकर नई राह पकड़ रहा था तो उधर अंग्रेज अपनी महारानी विक्टोरिया को बर्मा (अबम्याँमार) बतौर […]

Read More
Google

गूगल – 100 अरब का खोजी नंबर 1 गूगल

सौ अरब डॉलर का ब्रांड पलक झपकते ही इंटरनेट के अथाह सागर से ढेरों जानकारियाँ ढूँढ़ लानेवाला खोजी नंबर ‘गूगल’ अब दुनिया का सबसे बड़ा ब्रांड बन गया है। यह दिग्गज सर्च इंजन 100 अरब […]

Read More
Bournvita

बॉर्नवीटा – तन की शक्ति, मन की शक्ति बॉर्नवीटा

बॉर्नवीटा चॉकलेट के लिए दुनिया की दिग्गज कंपनी कैडबरीज को यदि बच्चों के दाँत खराब करने के लिए कोसा जाता है तो उसे बच्चों को सेहतमंद बनाने का श्रेय भी है। बॉर्नवीटा ड्रिंक के माध्यम […]

Read More
कैडबरी

कैडबरी – दो कमरों से सौ देशों में पहुँची कैडबरी

कैडबरी की सफलता वाकई सपनों जैसी लगती है। दो कमरों की एक दुकान से उठकर इसका दुनिया भर में पूरे अदब के साथ फैल जाना एक करिश्मा है। पर, यह सब कैडबरी ब्रदर्स की आगे […]

Read More

बाबा रामदेव: द ग्रेट मार्केटियर

ब्रांड लोकल हो या ग्लोबल, सामान्यतः उसकी सफलता उत्पाद की गुणवत्ता पर निर्भर करती है; पर यदि उत्पाद के साथ प्रतिष्ठित ब्रांडनेम जुड़ा हो तो ग्राहक गुणवत्ता परखने के पहले ही उत्पाद लपक लेते हैं। […]

Read More

कोलगेट

किसान के बेटे का कमाल कोलगेट एक साधारण किसान का बेटा क्या कमाल कर सकता है, इसकी मिसाल है कोलगेट पामोलिव कंपनी का इतिहास। दुनिया की सर्वाधिक प्रतिष्ठत कंपनियों में से एक कोलगेट की 200 […]

Read More

मैकडॉनल्ड्स

कतार से जनमा मैकडॉनल्ड्स बड़े स्वप्न देखो, जोखिम उठाओ, पूरा दम लगाओ और अपने स्वप्न साकार करो।’ स्व. धीरूभाई अंबानी के इस अनुभव-सद्ध कथन का आशय है- अनूठी सफलता केवल अनूठे सोच से नहीं मिलती। […]

Read More

एमवे

आम को अमीर बनाए एमवे   एमवे यानी ‘अमेरिकन-वे’, एक ऐसी एफएमसीजी-मार्केटिंग कंपनी है जो अपनी रणनीतियों के लिए विख्यात है। आज से ठीक 50 साल पहले जनमी एमवे ने 100 से ज्यादा देशों के […]

Read More

माइक्रोसॉफ्ट

झूठ से शुरू हुई थी माइक्रोसॉफ्ट क्या कोई यकीन कर सकता है कि दुनिया की सबसे अमीर कंपनियों में से एक माइक्रोसॉफ्ट की बुनियाद दो युवाओं के एक झूठ पर रखी गई थी? बिल गेट्स […]

Read More

कोका कोला

केतली से निकला कोका कोला   सन् 1886 के दौरान की बात है। अमेरिका के न्यूयॉर्क हार्बर पर श्रमिक स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी को खाड़ी में स्थापित करने के महा-अभियान में लगे हुए थे और यहाँ […]

Read More
25 Super Brand

एडीडास – मोची के बेटों ने बनाया एडीडास

एडीडास – मोची के बेटों ने बनाया एडीडास एडीडास – मोची के बेटों ने बनाया एडीडास ‘भगवान क्या है?’ देश की दूसरी सबसे बड़ी (पहली टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज) आईटी कंपनी इन्फोसिस टेक्नोलॉजिस के संस्थापक नारायण […]