Category: Editorial

Read More
Google

गूगल – 100 अरब का खोजी नंबर 1 गूगल

सौ अरब डॉलर का ब्रांड पलक झपकते ही इंटरनेट के अथाह सागर से ढेरों जानकारियाँ ढूँढ़ लानेवाला खोजी नंबर ‘गूगल’ अब दुनिया का सबसे बड़ा ब्रांड बन गया है। यह दिग्गज सर्च इंजन 100 अरब […]

Read More
Bournvita

बॉर्नवीटा – तन की शक्ति, मन की शक्ति बॉर्नवीटा

बॉर्नवीटा चॉकलेट के लिए दुनिया की दिग्गज कंपनी कैडबरीज को यदि बच्चों के दाँत खराब करने के लिए कोसा जाता है तो उसे बच्चों को सेहतमंद बनाने का श्रेय भी है। बॉर्नवीटा ड्रिंक के माध्यम […]

Read More
Roots of Reservation and the Future of India

Roots of Reservation and the Future of India

Reservation – that’s what we are about to take a look at, in this brief piece.

But before we continue, I must ask you to do something. I want you to put aside all your preconceived ideas, opinions and thoughts about reservation. Try to be empty for a while, and if you can’t then please avoid reading this piece, because it won’t make difference to you anyways if you read with your mind being filled with garbage.

Now, let’s look at this issue with fresh eyes – and I mean literally, fresh eyes – eyes that are very little biased. I am saying very little biased, because it is neurologically impossible to be completely free from biases. The human brain functions on a daily basis, based on biases. That’s very natural. But you must also keep in mind that, not all biases are healthy, many of them are unhealthy and prejudicial. So, let’s try at the very least, to be less biased.

Read More

सफलता के सिद्धांत : अपने जीवन की 100 प्रतिशत जिम्मेदारी लीजिए

  अब मुझे पता चल रहा है कि मेरे साथ जो कुछ भी होता है, उसे मैं ही बनाता हूँ, बढ़ावा देता हूँ और होने देता हूँ। मेरे साथ हर दिन जो कुछ भी हो […]

Read More

आठवण

आम्ही जेवायला बसलो होतो. संध्याकाळचे एकत्र जेवण. अस्मादिक, बायको व मुलगा एकत्र जेवायला बसले की एकत्र जेवण असे म्हणायचे. आता एकत्र कुटुंब राहिलेले नसले, तरी जेवण एकत्र असते. पुढच्या पिढीत त्यालाही फाटा फुटेल कदाचित. विविधभारतीवर लागलेल्या “मेरी […]

Read More

एमवे

आम को अमीर बनाए एमवे   एमवे यानी ‘अमेरिकन-वे’, एक ऐसी एफएमसीजी-मार्केटिंग कंपनी है जो अपनी रणनीतियों के लिए विख्यात है। आज से ठीक 50 साल पहले जनमी एमवे ने 100 से ज्यादा देशों के […]

Read More

माइक्रोसॉफ्ट

झूठ से शुरू हुई थी माइक्रोसॉफ्ट क्या कोई यकीन कर सकता है कि दुनिया की सबसे अमीर कंपनियों में से एक माइक्रोसॉफ्ट की बुनियाद दो युवाओं के एक झूठ पर रखी गई थी? बिल गेट्स […]

Read More

पाज़िटिव थिंकिंग: सफलता की तरह कोई भी सफल नहीं होता

सफलता की तरह कोई भी सफल नहीं होता आप किनके साथ अपना समय बिताना चाहेंगे? व्यक्ति, जो कि निराशावादी, शंकालु और उदास रहता है और हमेशा इस बात के प्रति आश्वस्त रहता है कि आकाश […]

Read More

कोका कोला

केतली से निकला कोका कोला   सन् 1886 के दौरान की बात है। अमेरिका के न्यूयॉर्क हार्बर पर श्रमिक स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी को खाड़ी में स्थापित करने के महा-अभियान में लगे हुए थे और यहाँ […]

परियों के देश में

परियों के देश में अगली शाम कश्मीरी की दुकान में एक स्टूल पर बैठे हुए कमल ने कहा, ‘तो यह था वह सबसे असाधारण विवाह, जिसके बारे में आपने हमें कल बताया था, जावेद खान।’ […]

Read More

Three Strikes and….You’re Her story!

March was Women’s Herstory Month. That is formally referred to as Women’s History month.

Yet, I persist with Herstory because, language, as feminists recognized long ago, is one of the most powerful institutionalized structures than ensures the persistence of injustice.

It was the reason women in the 70s fought for a new title – Ms one that was not solely defined by the marital status of women. We don’t hear enough about Her story and we should.

Workplace Diversity: Embrace it and Celebrate it

Workplace Diversity

Did you know that over 100 languages are spoken in many cities in North America?  The time has come to prepare your workplace for cultural diversity. It has become a multi-cultural mosaic.  Canada and the United States are the most culturally diverse nations on earth. We are becoming more of a “toss salad” than a “melting pot”.

As the multicultural population in North America explodes, companies and entrepreneurs often miss market penetration because of the failure to understand the target group's cultural values and customs

Cultural and ethnic diversity is challenging the way we do business with multicultural communities.

What is Diversity?